मंगलवार, 11 जुलाई 2017

बाँध लेता प्यार सबको देश से




डॉ मधु त्रिवेदी

बाँध लेता प्यार सबको देश से
              द्वेष से तो जंग का आसार है
लांघ सीमा भंग करते शांति जो
              नफरतों से वो जले अंगार है
होड़ ताकत को दिखाने की मची
               इसलिये ही पास सब हथियार है

सोच तुझको जब खुदा ने क्यों गढ़ा
                पास उसके खास ही औजार है
जिन्दगी तेरी महक  ऐसे गयी
                 जो तराशे इस जहाँ किरदार है
शाम होते लौट घर को आ चला
                  बस यहाँ पर साथ ही में सार है
हे मधुप बहला मुझे तू रोज यूँ
                   इस कली पर जो मुहब्बत हार है





संक्षिप्त परिचय
--------------------------- . 

पूरा नाम : डॉ मधु त्रिवेदी 
पदस्थ : शान्ति निकेतन कालेज आॅफ
बिजनेस मैनेजमेंट एण्ड कम्प्यूटर 
साइंस आगरा 
प्राचार्या,
पोस्ट ग्रेडुएट कालेज आगरा 

मधु त्रिवेदी के अन्य लेख 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें