मंगलवार, 28 अप्रैल 2015

छिपकली जैसा रोबोट

                                                   

छिपकली जैसा रोबोट 

जिस तरह छिपकली अपने गद्देदार पैरों की  ग्रिप की वजह से दीवाल पर उलटा चल लेती है इसे से प्रेरणा लेकर 
वैज्ञानिकों ने छिपकली जैसा  रोबोट विकसित किया  हैं. ये रोबोट अपने वजन से कई गुना वजन उठाकर खड़ी दीवार पर चढ़ सकते हैं.


वैज्ञानिकों ने छिपकली से प्रेरणा लेकर रोबोट विकसित किए हैं. ये रोबोट अपने वजन से कई गुना वजन उठाकर खड़ी दीवार पर चढ़ सकते हैं. वैज्ञानिकों के अनुसार इन रोबोट का इस्तेमाल आपदाकाल, फैक्टरी और विनिर्माण उद्योग में किया जा सकता है. अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य स्थित स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने रोबोट ‘‘गेको’ (छिपकली) विकसित किया है. 
छिपकली के कार्य करने के ढंग पर आधारित इन रोबोट के पांव में पतले व मजबूत बाल लगे होते हैं. इन से सामान बांधा जाता है और यह रोबोट अपने से कई गुना ज्यादा भारी वजन लेकर दीवार पर चढ़ जाते हैं. यह रोबोट अगले माह सिएटल (वाशिंगटन) में आयोजित इंटरनेशनल कान्फ्रेंस ऑन रोबोटिक्स एंड ओटोमेशन में पेश किया जाएगा.

यह रोबोट मात्र नौ ग्राम का है लेकिन यह रोबोट एक किलोग्राम से अधिक तक का वजन लेकर दीवार पर चढ़ जाता है. इस तरह यह रोबोट अपने से 100 गुना अधिक तक का वजन लेकर दीवार पर चढ़ जाता है. रोबोट ‘‘म्यू टग’ का वजन 12 ग्राम है. यह रोबोट ‘‘म्यू टग’ अपने से 2000 गुना अधिक वजन खींच सकता है.

atoot bandhan ………हमारा फेस बुक पेज 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें